बलात्कार के आरोपी का भै जेल

mahila mudda fainalजिला फैजाबाद, ब्लाक मया, गांव सराय बैरीसाल। हिंआ 30 सितम्बर 2013 का सबेरे छह बजे षौच की खातिर गै रहिन तबै गांव कै लडि़का सदाम पकड़के छह साल के लडि़की से बलात्कार करिन।
लड़की कै अम्मा उर्मिला बताइन कि हमार बिटिया सुनीता (बदला नाम) अबहीं कक्षा सात मा पढ़त रही। यकै जिन्दगी बर्वाद कै डारिन। अबहीं तौ पढ़ाई लिखाई करत रही आगे षादी बियाह कैसे होये। जब यस हमरे बिटिया के साथे भै है तौ हम अपने बिटिया का लइके महराजगंज थाना मा गै रहेन। एस.ओ राजेष यादव हमै समझाय दिहिन। बिना जांच केहे छेड़छाड़ कै धारा लगाय दिहिन। चार दिन तक सदाम का बन्द करे रहिन वकरे बाद छोड़ दिहिन। तब हम जिला डीएम के पास अप्लीकेषन डारेन तब छह दिन बाद आदेष भये के बाद मेडिकल जांच भै।
सदाम कै पिता खलील अहमद बताइन कि हमरे घर मा दुई सयान लड़की हईन अगर हमार गेदहरै यस घिनौनी हरकत करिहैं तौ हमरे गेदहरन के साथे उहै होये। ई सब बात गलत हुवय। हमरे लडि़का का फंसावा गै बाय। पड़ोस कै षिवकुमार, आरती, पंजाबी मोहम्मद कादिर बताइन कि जउने समय कै ई कहानी हुवय हमरे सब यहीै रहेन लकिन केहू का कुछ पता नाय बाय। ई सब पुरानी रंजिस आय। जउने से ऊ लडि़का फंसावा जात बाय।
मया थाना कै एस.ओ राजेष यादव बताइन कि हिंआ पै 11/12 अउर 354 पी.सी हरिजन एक्ट कै धारा लाग बाय। हिंआ से चलान होय गै बाय जिला थाना का अब मेडिकल जांच रिर्पोट सी.ओ. सदर के पास जाये फैसला वहीं से होये।