बलात्कार की कोशिश या बलात्कार ?

456
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने सरकार और पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया।

सी.बी.आई. जांच की मांग

लखनऊ में मोहनलालगंज में बिना कपड़ों के मिली महिला की लाश का मामला पुलिस के बयान के बाद और गरमा गया है। पुलिस का कहना है कि महिला के साथ सामूहिक बलात्कार नहीं हुआ है। द्वारा बलात्कार की कोशिश ज़रूर की गई थी। पुलिस ने हत्या के मामले में रामसेवक नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक सुतापा सान्याल ने लखनऊ में एक प्रेस वार्ता में यह बात कही। पुलिस के अनुसार रामसेवक नाम का यह व्यक्ति एक इमारत में सुरक्षा गार्ड था। यह महिला वहां पर किराए का मकान देखने गई थी। महिला का फोन नंबर पहले से ही उसके पास था। उसने फोन करके महिला को फ्लैट देखने के लिए बुलाया था। वहीं पर उसने इस घटना को अंजाम दिया। महिला के रिश्तेदारों ने इस मामले के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग की है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर भी सवाल उठाए गए हैं। क्योंकि महिला के घरवालों के अनुसार महिला के एक किडनी नहीं थी जबकि रिपोर्ट में इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है।

यह कैसे बयान
यहां के पूर्व राज्यपाल अज़ीज़ कुरैशी ने अपना पद छोड़ने से ठीक एक दिन पहले 21 जुलाई को एक विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में देश की पूरी पुलिस और सेना को भी अगर उत्तर प्रदेश में तैनात कर दिया जाए तो भी यहां बलात्कार नहीं रोके जा सकते हैं। अब तो भगवान ही इसे रोक सकते हैं। इससे पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि राज्य में 21 करोड़ लोग रहते हैं। आबादी को देखते हुए दूसरे राज्यों के मुकाबले यहां बलात्कार के मामले कम ही हैं।