बराबरी की मांग का उत्सव-गर्व अपनी पहचान पर    

q-1 दिल्ली में 30 नवंबर को लोगों ने मिलकर एक रैली निकाली। हर साल यह लोग सतरंगे झंडे को लहराकर 30 नवंबर को दिल्ली के टॉलस्टाए मार्ग से लेकर जंतरमंतर तक सैकड़ों लोगों ने रैली निकाली। इस रैली में समलैंगिक, बाइसेक्सुअल यानी स्त्री और पुरुष दोनों के साथ यौन संबंध बनाने वाले समुदाय के लोग, ट्रांसजेंडर समुदाय के साथ इनके लिए अधिकारों की मांग करने वाले समूह और संस्थाओं के लोग भी थे। नाचते गाते, अपने अधिकारों की मांग करते यह लोग हर साल नवंबर के महीने में एक उत्सव आयोजिन करते हैं। सुप्रीम कोर्ट द्वारा हाई कोर्ट से मिले अधिकार को खत्म करने के साथ ही परंपरागत यौन संबंध के अलावा अन्य संबंधों को अपराध की श्रेणी में रखने के बाद पहली बार इस तरह के रैली का आयोजन किया गया है।