बनारस के राजनैया गांव में देखिए शराब पीने से मना करने पर उठे विवाद ने ले ली राजेश यादव की जान

राजनैया गांव में रात में हादसा हुआ जिससे राजेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आसपास के लोगों को नहीं मालूम था कि वो लोग इस हादसे को ये अंजाम देंगें।

बेटा सुभाष यादव का कहना है कि रात 8 बजे ठंडा और गिलास लेकर पैक बनवाये। तो हमने बोला कि यहाँ से हटा लों। क्योंकि फिर पुलिस वाले आकर हमें बोलते हैं कि तुम शराब बेचते हो। तो वो गाली-गलौज देने लगा, तो पापा धक्का देकर बोले की चल हट उधर जाके मिलाकर पी।  तो वो लोग चले गये फिर रात 10 बजे आकर डंडा लाठी से मारने लगे तो विवाद बढ़ा। फिर वो लोग गोली चला दिए। मेरे मामा का लड़का था वो पीछे से भागा, तो एक लड़का उसके पीछे भागा। मैं एक लड़के को पकड़े हुए था, तो जो लड़का पीछे भागा था वो आकर पीछे से मुझको धक्का दिया जिससे मैं गिर गया।  जब उठा तो देखा कि शमशेर, मुन्नासिंह,भूरे पहलवान उधर से गेट के पास खड़े थे, तो मैं चिल्लाया तो ये लोग भाग गये।

पड़ोसी निखिलेश ने बताया कि रात 10 बजे की ये घटना है पहचान के नहीं हैं, कि कौन थे। पड़ोसी अवधेश ने बताया कि हां हम देखे हैं कि दूसरी लाश दो किलोमीटर फेक दिए थे। पड़ोसी मुकुंद का कहना है कि वहां पर केवल वही तीनों लोग थे और वहां कोई नहीं मौजूद था।  गोली मारकर फरार हो गये हैं। वहां शादी भी हो रही थी तो कोई समझ नहीं पाया कि गोली हर्षफायरिंग की थी कि किसी को गोली मारने की। बगल में लोग थे तो वो लोग मौके में पहुंचे हैं। वही लोग पुलिस को भी बुलाये हैं और उनको लेकर हास्पिटल भी गये थे। शादी के चक्कर में कोई नहीं समझ पाया। सब लोगों को सुबह पता चला है।

एएसपी रामकिशुन भारद्वाज का कहना है कि गांव वालों से पता चला कि वहां कुछ लोग मौजूद थे।  उनको हिरासत में ले लिया गया है। लगातार पूछताछ चल रही है कि कोई रंजिश तो नहीं थी। जैसे ही कोई सुराग मिलता है हम कार्यवाही करेगें।  

रिपोर्टर: अनामिका

Published on May 4, 2018