बढ़ने की बात छोड़ दीजिए यहाँ तो बच्चे पढ़ भी नही पा रहे हैं, देखिए ललितपुर जिले के कुसमाड़ गांव के प्राथमिक स्कूल की हालत

ठण्ड के मौसम एक कप चाय और दो साथ में दो टोस्ट हो तो फिर कहना ही क्या है हर किसी का दिन अच्छा हो जायें। लेकिन क्या आपको मालूम है केवल आप ही नहीं, और भी लोग इसके दीवानें हैं। इसलिए जानते है ललितपुर जिले के लोगों से।
आदेश का कहना है कि हमारे यहां ताजे-ताजे टोस्ट बनते है तुरंत बनाकर देते है तो टोस्ट का स्वाद बहुत अच्छा लगता है और सुबह- सुबह चाय के साथ खानें में बहुत मजा आटा है। विक्की का कहना है कि हमें टोस्ट खाने में बहुत अच्छा लगता है, इसलिए हम रोज खाते है। टोस्ट बनाने वाले हीरानंद का कहना है कि पहले मेरे पापा और दादा टोस्ट बनानें का काम करते थे तो मैं भी सीख गया हूँ। टोस्ट बनाने के लिए हमें रात भर जागकर काम करना पड़ता है। इसलिए आप ही नहीं और भी लोग है जो टोस्ट के लिए अपनी नींद हराम करते हैं।

रिपोर्टर- कल्पना

Published on Jan 19, 2018