बढ़त जात हे देहज हत्या के केस

mahila-mudda-kahra-gaoजिला महोबा, ब्लाक कबरई, गांव कहरा। एते की सिलोचना नाम की ओरत की 2 नवम्बर 2015 खा आगी से जल के मोत हो गई हती। मायके वाले ससुरालवालेन के ऊपर दहेज न देय के कारन मार देय को आरोप लगाउत हे। न्याय के लाने 10 फरवरी खा एस.पी. खा दरखस दई हे।
सिलोचना की मताई अवधरानी कहत हे की हम छतरपुर जिला के रहे वाले हे। बिटिया की शादी 9 जून 2014 खा कहरा गांव के विक्रम साथे करी हती। दहेज मे 51 हजार रुपइया, मोटर साइकिल, सोने की जंजीर ओर एक अंगूठी दई हती। इत्ते मे ससुराल वालेन को पेट नई भरो एक लाख रुपइया की ओर मांग करत हते। न देय पे आदमी मारत हतो। देवर ससुर ओर सास भी गाली गलौज ओर लड़ाई झगड़ करत हते। बिटिया जभे मायके आउत हती तो बताउत हती। हम समझा के भेज देत हते। काय से मताई बाप जिन्दगी भर बिटिया खा अपने घर तो नई बेठा सकत हे। एई से 21 नवम्बर खा आगी लगा के जला दओ हे। हमें फोन करके बताओ जभे हम ओते गये ओर देखो तो शरीर मे चोट के निशान हते। हमने एस.पी. साहब खा दरखास दई हती। ससुर ओर आदमी विक्रम जेल चले गये हे तो सास भूरी ओर देवर सुधीर फोन करत हे। गाली गलौज कर केस वापस लेय की बात कहत हे नई जान से मार देय की धमकी देत हे, एई से दुबारा से 10 फरवरी खा दुबारा दरखास दई हे। जीसे हमाई सुरक्षा ओर न्याय मिल सके।
देवर सुधीर कहत हे की हमें फर्जी फसाओ हे। न हमने दहेज मांगो हे ओर न ही हमने जलाओ हे। न हम फोन करत हे। महोबा अपर एस.एस.पी. डाक्टर रामयस सिंह कहत हे की सी.ओ. संदीप कुमार से जानकारी लेके कारवाही करी जेहे।