बच्चा भर्ती करें मे चोराउत मुंह

taj wwचित्रकूट जिला के एन.आर.सी. विभाग मे 10 मई खा दस कुपोषित बच्चा भर्ती करे हते। जीमे से एक बच्चा साल भर पेहले भी भर्ती रह चुको हे। बच्चा की मताई कहत हती कि आपन काम छोड़ के एते आउत हे, पे बच्चा दुबारा से कुपोषित हो गओ हे।
ब्लाक पहाड़ी, गांव सुरसेन के नजीना नाम की ओरत बताउत हे कि शबनम एक साल के हे। लड़की खा तेज बुखार, जुखाम ओर तेज पसली चलत हती। डाक्टर कहत हते की सोनेपुर अस्पताल मे एन.आर.सी.विभाग ले जाओ। ओते फ्री मे इलाज हो हे। एते बुखार तो सही हो गई हे, पे पसली चलत हे। डाक्टर आउत हे तो दूर से देख के चली जात हे।
मोहरवा गांव, हरहुई पुरवा के रामदुलारी कहत हे कि मोई चौथे नम्बर की बिटिया रीनू डेढ़ साल के हे। रीनू शुरू से कुपोषित हे। 2015 अप्रैल के महीना मे एन.आर.सी. विभाग मे भर्ती करो हतो तो नींक हो गई हती।
अब दो महीना से फिर बुखार ओर टट्टी से परेशान हे। सुमित्रा बताउत हे कि सोना तीसर नम्बर के लड़की हे, ऊ कुपोषित हे। आदमी बोहतई कम बच्चन खा लेके आउत हे।
ऊं कहत हे कि घर का काम कोन करहे, जभे कि एते बच्चन खा लेके आयें वालेन खा दोपहरी, शाम को खाना ओर एक दिन को पचास रूपइया दओ जात हे।
बच्चन खा दवाई, दूध अगर बच्चा फल खा सकत हे तो दओ जात हे।