बकरीद के दिन रोहिंग्या मुस्लिम समुदाय के लोगों पर हमला

फोटो साभार:विकिमीडिया कॉमन्स

फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ इलाके के मुजेरी गांव में रोहिंग्या मुसलमानों पर बकरीद के मौके पर हमला किया गया है। बताया जा रहा है कि यहाँ भैंस की कुर्बानी देने पर स्थानीय लोगों ने कथित तौर पर इन लोगों से मारपीट की।
सूत्रों के अनुसार, यहां करीब 45 रोहिंग्या मुस्लिम परिवार रहते हैं। यहां रहने वाले एक रोहिंग्या मुस्लिम साकिर ने बताया कि पहले तो स्थानीय लोगों ने हमारे बंधे हुए जानवरों को ले जाने की कोशिश की। जब हमने इंकार किया तो वो बोले कि ये बछड़े हमें बेच दो। हमने ये कहकर मना किया कि हमने इन्हें ईद पर कुर्बानी के लिए खरीदा है। हमने विवाद ना बढ़े इसलिए कहा कि हम शनिवार को इन्हें जाकर बाजार में बेच देंगे, लेकिन तभी वो शनिवार सुबह 15-20 के झुंड में आए और हमारे साथ मारपीट की। उन्होंने हमारे कटरों को छोड़ दिया और जिसने ऐसा करने से उन्हें रोका उसके साथ मारपीट की। महिलाओं के कपड़े तक फाड़े।
एक अन्य रोहिंग्या मुस्लिम मोहम्मद जमील कहते हैं, ‘उन्होंने हमारे परिवार की महिलाओं तक को बुरी तरह पीटा। दो मुहिलाओं के साथ दुर्व्यवहार भी किया।
मामले में अन्य मुस्लिमों ने बताया कि हमलावरों ने चार लोगों का अपहरण किया और उन्हें पास के जंगल में ले गए। उन्हें भी बुरी तरह पीटा गया। उन पर लाठियों और रोड से हमला किया गया।
घटना में घायल हुए मोहम्मदुल्लाह कहते हैं कि उन्होंने हमारा फोन छीन लिया। उन्होंने हमें पुलिस में शिकायत ना करने की धमकी भी दी। अगर हमने ऐसा किया तो वो एक रात में सबको जान से मार देंगे।
मोहम्मदुल्लाह के अनुसार, हमलावरों ने सुबह करीब सात बजे हमें रिहा किया और हमारे फोन लौटाए। इस दौरान भी उन्होंने हमें बुरी तरह पीटा। शरीर के दर्द की वजह से हम चल भी नहीं सकते।
सूत्रों के अनुसार, घटना में चार लोग घायल हुए हैं जिन्हें उपचार के बाद हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई है। वहीं बल्लभगढ़ सदर पुलिस स्टेशन में अज्ञात हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।