बंटवारा से चलै प्रधानी विकास परा ठप

DSCN0099
कार्य योजना मा होय के
बादौ नहीं बना कुंआ

जिला बांदा, ब्लाक महुआ, ग्राम पंचायत पचोखर। हेंया का प्रधान जागेश्वर कुशवाहा है। वा दुई साल से लकवा मारै के कारन काम करै मा अस्मर्थ है। या कारन वहिके लड़का छह-छह महीना मा बंटवारा कइके प्रधानी चलावत हैं। दलित बस्ती मा नाली, खड़ण्जा, पानी, कालोनी, पेंशन अउर नाला जइसे के कउनौ विकास निहाय। यहिके खातिर गांव के वार्ड सदस्य नरैनी तहसील मा दरखास भी दिहिन हंै, पै कउनौ कारवाही नहीं भे आय।
गांव के मइकी बतावत है कि 2011-12 मा इन्द्रा आवास नाम के कालोनी आई रहै। प्रधान कालोनी दें मा पांच हजार रूपिया लिहिस है। पहिली किस्त तेतिस हजार सात सौ के आई रहै। दरवाजा के लेंटर तक कालोनी बन गे है। अब दूसर किस्त न मिलैं से कालोनी अधूरी है। प्रधान से कहा तहसील दिवस मा दरखास दीन तौ नरैनी तहसीलदार दुई महीना पहिले जांच का आय रहंै। प्रधान 15 दिन मा दूसर किस्त का रूपिया निकरावैं का कहत रहै। वार्ड नम्बर 7 का सदस्य राजा भइया अउर वार्ड नम्बर 9 के सदस्य बुधिया का लड़का राम किशोर बतावत है कि हमरे हेंया का कुंआ अउर राजा भइया के दुआर से गूंगा यादव के दुआरे तक रास्ता बनै खातिर 2013-14 के कार्य योजना मा है, पै साल खतम होय वाला है प्रधान काम नहीं करावत आय। कहत है कि या मोहल्ला से वोट नहीं मिला। वार्ड नम्बर 9 श्याम यादव के दरवाजे का हैण्डपम्प खराब है। बीस घर के मड़ई पानी का परेशान रहत हंै। काषी प्रसाद, मुन्नी बतावत है 2009-10 मा गांव के विकास खातिर मिनी सचिवालय अउर बरात घर बना रहै। जेहिके दरवाजा खिड़की सब टूट परे है। मड़ई गोबर पाथत है। सुन्ता कहत है मैं आखिन से विकलांग हौं, पै मोर विकलांग पेंशन नहीं बनी आय। पंचायत मित्र सुमन का जेठ संतोष कहत है कि 2011-12 मा जउन इन्द्रा आवास आय रहंै। उंई कालोनी के दूसर किस्त नहीं आई यहिसे अधूरी हैं। गांव मा ठीक से प्रधानी न चलैं के कारन नीक से काम नहीं होत। यहिसे हमरे ग्राम पंचायत से पिछले साल 22 लाख रूपिया वापस भा है।
प्रधान जागेश्वर कहत है कि मैं विकलांग होय के कारन गांव का विकास नहीं करा पायेंव। लड़का आपन मन का करत हैं। अब प्रधानी भी जाय वाली है। पचोखर सचिव कहत है कि गांव के बारे मा प्रधान से बात करौ मैं कुछ नहीं बता सकतेंव।