फैजाबाद जिले के मया ब्लाक के गन्ना किसान पर्चे बिना हैं मजबूर

जिला फैजाबाद, ब्लाक मया किसान मेहनत कराथिन फसल अउर सूखा से बचै के बाद जब बाज़ार पहुंचै कै समय आवाथै तबौ उनका परेशानी कै सामना करै कै पराथै। फैजाबाद कै किसान गन्ना पर्ची न आवै से परेशान अहैं। कुछ किसान औने पौने दाम मा दलालन के हाथ गन्ना बेचै का मजबूर अहैं।
किसान जगविदित पाण्डेय कै कहब बाय कि बारह बीघा गन्ना बोये हई। छह बीघा बोवारी छह बीघा पेड़ी। डेढ़ महीना पहिले पर्ची आय रही तबसे नाय आय। मनोज कुमार तिवारी कै कहब बाय की पेड़ी गन्ना पर्ची न आवै से खेत मा परा बाय।अगर पर्ची न आये तौ क्रेशर पै दियब। रामशंकर कै कहब बाय की एक बीघा गन्ना थ्रेसर पै देहे हई।
सीनियर इंजीनियर मसौधा मिल अनिल त्रिपाठी कै कहब बाय कि किसान के गन्ने कै रकबा अउर पिछले दुई साल के सप्लाई कै औसत पै बेसिक कोटा।अगर गन्ना कै रकबा बेसिक कोटा से कम बाय पैदावार कम बाय, गौरमेंट के कटाई के हिसाब से कम निकरत बाय तौ वकै पर्ची कम बनाथै।जबकि किसान जल्दबाजी माँ गेहूं के बुवाई के लालच मा आपन गन्ना दूसरे के नाम पै बेंच दियाथिन।तब उनकै बेसिक कोटा कम होय जाथै। जब बेसिक कोटा कम होय जाथै तब पर्ची कै संख्या भी कम होय जाथै।

रिपोर्टर- संगीता

Published on Feb 10, 2017