फैजाबाद जिले के बीकापुर के किशोर-किशोरियों ने सीखा स्वास्थ्य का गुण

फैज़ाबाद जिला के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बीकापुर मा किशोर-किशोरी स्वास्थ्य कार्यक्रम कै आयोजन कीनगाबढ़ती उमर मा किशोर-किशोरी के अन्दर हुवय वाले बदलाव के बारे मा जागरूक कीनगास्वास्थ्य केंद्र कै एनम द्वारा ई जानकारी दीन गए।
डॉक्टर सतीशचन्द्र अधीक्षक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बीकापुर बताइन कि दस से उन्नीस साल के उमर कै जवन लड़की-लड़का अहैं उनके शरीर मा जवान बदलाव आवाथै सकारात्मक, नकारात्मक वकरे बारे मा एक सप्ताह कै ट्रेनिंग दीन जात बाय।
ट्रेनर मधुबाला बताइन कि यहि प्रशिक्षण मा दस साल से उन्नीस साल कै किशोर अउर किशोरी आय अहैं जेहमा दुई स्कूल जाय वाले अउर दुई स्कूल न जाय वाले अहैं। इनकै चयन आशा करे अहैं। एकै मेन उद्देश्य बाय की किशोर-किशोरी अपने आवै वाले शारीरिक अउर मानसिक परिवर्तन के ताई तैयार रहैं। घबराय न ई सब नार्मल चीज आय। सबके साथ हुआथै।
निशा छात्रा बताइन कि हमरे गाँव कै शकुन्तला आशा कार्यकर्ता हमैं सीखय के ताई हियां बुलायके लाय अहैं। हम खुद सीखके अउर गांव के लडकियन का सिखाउब। अनुपम उपाध्याय छात्र कै कहब बाय कि जब लड़का बड़ा होइहैं तौ उनके दाढ़ी अउर मोक्ष आये जेसे घबराय न। ई सब सीखके अउर लड़कन का जानकारी दियब।
स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी देवप्रकाश वर्मा बताइन कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत एक कार्यक्रम चलावा जात बाय जेकै नाम बाय रास्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम। यहि अवस्था मा तमाम प्रकार कै जवन अंदरूनी समस्या हुआथै तौ आपन बात शेयर नाय कै पउते। हियाँ से सीखके अपने उमर के किशोर-किशोरी से शेयर करिहैं। अउर उनकै सहयोग क्षेत्रीय आशा करिहैं। अगर समाधान न होय पाये तौ जब गाँव मा समूह बनइहै तौ वकै समाधान कीन जाये।
रिपोर्टर- कुमकुम
Published on Mar 26, 2018