फैजाबाद जिले की सुषमा का आरोप, अच्छा काम के बाद भी नौकरी से निकाला

जिला फैजाबाद, ब्लाक पूराबाज़ार, गाँव समैसा पूराबाजार कै खंड प्रेरक सुषमा जायसवाल 2015 मा स्वच्छ भारत मिशन से जुड़ी। अउर वहि क्षेत्र के गाँव मा जागरूकता फैलाई। जेकै असर वहि क्षेत्र के गांवन मा साफ़ देखै का मिला थै। पर दिसम्बर 2016 मा उनका बिना कउनौ पूर्व सूचना कै काम से निकाल दीन गए।पंचायती राज अधिकारी कै माना जाय तौ सुषमा का कांट्रेक्ट पै रखा गा रहा वकै अवधि पूरी होइगै बाय।
रामसुमन बलजोर कै कहब बाय कि शौचालय केहू केहू के घरमा पहिले से बना रहा लकिन केहू इस्तेमाल नाय करत रहा। सुषमा घर घर जाएके सफाई करवाइन। सुन्दर पति कै कहब बाय कि जयनगरा गाँव मा एतनी गंदगी रही कि केहू आय जाय नाय पावत रहा। डेढ़ साल से वै आये हर गाँव कै सफाई करवाइन अब आवै जाय के लायक भए। सीताराम अउर प्रियंका कै कहब बाय कि टीम के साथे तीन बजे रात मा आवत रहिन।साथ मा सफाई कर्मी भी रहत रहिन। समझाइन कि खुले मा सौच न जाय, घर के वातावरण अउर गाँव का सुरक्षित राखै।
सुषमा जायसवाल खंड प्रेरक कै कहब बाय कि यतनी मेहनत के बाद जब गाँव मा सुधार आय तौ अधिकारी लोग हमहीं का किनारे कै दिहिन। जब हम अपने काम मा काफी आगे निकल गयन तौ हमरे काम का देखै के बजाय हमै निकाल दीनगा। हमैं कौनौ सूचना नाय दीन गए। जब हमरे जगह पै कौनौ दूसर कर्मचारी आइके बैठ गए तौ हमें पता चला।
जिला पंचायत राज अधिकारी शास्वत सिंह कै कहब बाय कि सुषमा का निकारा नाय गा बाय। जवन हमार पूर्व कम्पनी रही वकै संबिदा अप्रैल 2016 मा समाप्त होय चुकी रही। अब नई कम्पनी हायर कीन गए। जेतने कंडीडेट आये कमेटी के माध्यम से उनकै इंटरव्यू कीनगा। चयनित अभ्यर्थी कै चयन कईके ब्लाक मा आवंटित कै दीन गा बाय।

रिपोर्टर- संगीता और मनीषा

11/01/2017 को प्रकाशित