फैजाबाद के गोसाईगंज स्टेशन का हाल ना पूछो तो ही ठीक!

जिला फैजाबाद अउर अम्बेडकरनगर  1936 से स्थापित गोशाईगंज स्टेशन जेका कउनौ समय मा जक्शन कै उपाधि प्राप्त रही। फैजाबाद अउर शाहगंज के बीच कै सबसे बड़ा स्टेशन रहा।अब रामभरोसे बाय।  हिंया पै असुबिधा कै बोलबाला बाय। स्टेशन कै प्लेटफार्म नंबर-2 बहुत ही ऊबड़ खाबड़ बाय। ओबरब्रिज न हुवय से यात्रियन का जान जोखिम मा डारिके रेलवे लाइन पार करै का पराथै।जिला फैजाबाद अउर अम्बेडकरनगर  1936 से स्थापित गोशाईगंज स्टेशन जेका कउनौ समय मा जक्शन कै उपाधि प्राप्त रही। फैजाबाद अउर शाहगंज के बीच कै सबसे बड़ा स्टेशन रहा।अब रामभरोसे बाय।  हिंया पै असुबिधा कै बोलबाला बाय। स्टेशन कै प्लेटफार्म नंबर-2 बहुत ही ऊबड़ खाबड़ बाय। ओबरब्रिज न हुवय से यात्रियन का जान जोखिम मा डारिके रेलवे लाइन पार करै का पराथै। अश्वनी कै कहब बाय कि बारिस मा जलभराव से निकरै मा समस्या हुआथै। ट्रेन पै चढ़त समय पैर फिसल जाथै जेसे मनई जान जोखिम मा डारिके आवत जाथिन। ट्रेन पै चढ़ए के ताई प्लेटफार्म बनब बहुत जरुरी बाय।  बिनीत कुमार फैजाबाद कै कहब बाय कि लगभग पचास साल हमार उमर होइगै इहै समस्या बाय अबहीं तक।  इस्माइल अहमद कै कहब बाय कि गेदहरै स्कूल जाथे अगर बीच मा कउनौ ट्रेन स्टॉप लै लियै तौ देर भी होय जाथै। रामप्रसाद कै कहब बाय कि लगभग पैतालिस साल से यहि रास्ता से आवत जाईथी। यहि पटरी से वहि पटरी आवै जाय या चढ़े उतरै मा दिक्कत हुवाथै। पूजा कै कहब बाय की ओबरब्रिज बनावै के ताई मौजूदा सांसद मांग करे अहैं। सांसद हरिओम पांडे कै कहब बाय कि जनता कै मांग हम भारत सरकार से पूरी कराय देहे हई।अउर स्वीकृति भी मिल चुकी बाय। वकै पैसा भी आय चुका बाय। टेंडर होय जाय के बाद कार्यदायी संस्था काम कराथै। उनका निश्चित डेट तक काम पूरा कइके दिये का बाय। चाहे एक दिन मा पूरा करै या साल भर मा।

रिपोर्टर- संगीता

Published on Jul 17, 2017