फैजाबाद के इस राम से लाख गुना अच्छा है रावण

नया साल कै पहली रात करीब साढ़े नौ बजे जब सब सोवै के तैयारी मा रहे वही समय फैजाबाद जिला के ब्लाक
तारून के केशरुआ बुजुर्ग गांव के रामतिलक निषाद अपने गेदहरन के सामने ही दारू के नशा मा अपने मेहरारू कै हत्या कै दिहिन पुलिस पकड़ से अबहीं तक बाहर बाय आरोपी
मृतिका कै बेटवा संतोष बताइस कि हमार पापा दारू के नशा मा अलाव सेंकत रहे वकरे बाद उठिके गये मम्मी का गन्ना से मारिन फिर जलाय दिहिन धर्मा देवी मृतिका कै सास बताइन की जानकारी नाय बाय जब जलत देखेंन तब गेदहरै दरवाजा खोलिन हम केहूका फूँकत नाय देखेन
मृतिका कै देवरानी सुनीता कै कहब बाय की जब लपक देखान तब हमरे सब आयन गाली दियत सुनेन लकिन आयन नाय जब गेदहरे गुहार लगाइन की अम्मा जरि जाति अहैं तब आयन

रिपोर्टर-कुमकुम यादव

Uploaded on Jan 11, 2018