फैज़ाबाद के मसौधा ब्लॉक के शिवदासपुर और दीनबंद का पुरवा में गला घोंटू की बीमारी भैंसों में फैली

जिला फैजाबाद, ब्लाक मसोधा, ग्रामसभा शिवदासपुर, दीनबन्धु का पुरवा। हिंआ के मनइन कै आरोप बाय कि बीस से पचीस दिन के बावजूद सरकारी डाक्टर गांव मा इलाज करै के ताई नाय आइन। जबकि हर साल यहि दिन मा बीमारी फैलाथै। तबौ विभाग नाय चेता।
अनिल कुमार वर्मा बताइन कि हमरे भैंस के डायरिया होय गै बाय। वहीं 24 तारीख का रघुनाथ वर्मा कै भैंस गलाघोटू से खतम होइगै। यही गांव मा बीमारी फैली बाय लकिन कउनौ डाक्टर आज तक सर्वे के ताई नाय आये। विवेकानन्द मिश्रा कै कहब बाय कि डाक्टरन का सूचना दीनगै बाय लकिन कउनौ अधिकारी नाय अउते। अगर जानवर बीमार हुवय तौ खुद इलाज के ताई लइके जाए का पराथै। शिवदास कै कहब बाय कि उनकै चार भैंस मरि गइन।
पशु चिकित्साधिकारी डाक्टर पूजा आर्या बताइन कि गांव के मनइन से यस कउनौ सूचना नाय मिली बाय कि यतनी ज्यादा मउत हुवत बाय। अउर टीकाकरण के ताई डाक्टर कै टीम भेजी जाथै। अगर सूचना मिलत तौ डाक्टर कै टीम जरूर भेजी जात। केहू कै जानवर बीमा हुआथै तौ खुद लइके पशु चिकित्सालय आवाथिन।
28/06/2016 को प्रकाशित

पचास से साठ हज़ार रुपये की एक भैंस
20-25 दिन के अंदर 7-8 भैंसों की मौत
फैज़ाबाद के मसौधा ब्लॉक के शिवदासपुर और दीनबंद का पुरवा में गला घोंटू की बीमारी भैंसों में फैली
सरकारी पशु डॉक्टर हैं कहां?