फेल हो रहा हीरो

hero_posterकलाकार – सूरज पंचोली, अथिया शेट्टी, आदित्य पंचोली निर्देशक – निखिल आडवाणी

1983 में एक फिल्म आई थी हीरो। इस फिल्म ने खूब नाम कमाया और पर्दे पर भी अच्छा काम किया लोगों ने भी इसे सराहा। अब इसी से कुछ मिलती जुलती एक और फिल्म आई है हीरो।
हीरो की कहानी शुरू होती है सूरज यानी सूरज पंचोली और राधा यानी अथिया शेट्टी से। सूरज एक दिलदार गुडंा है जो लूट के पैसों को गरीबों में बंाट देता है। राधा एक बडे़ पुलिस अफसर की बेटी है। एक दिन सूरज राधा को अगवा कर लेता है। लेकिन कुछ दिन के बाद सूरज राधा को छोड़ देता है तब तक दोनों के बीच प्यार हो जाता है। क्या होगा सूरज और राधा के प्यार का? क्या दोनों मिलेगें या एक पुलिसवाला अपनी बेटी को एक गुंडे से बचाएगा। ये तो फिल्म में ही मालूम चलेगा।
आइए अब बात करें फिल्म में कहानी और कलाकारों की। हीरो एक प्रेम कहानी है इसमें रोमंास के साथ-साथ विलेन और गानों का भी संगम है। सूरज पंचोली की बतौर हीरो पहली फिल्म है लेकिन आपको कहीं भी यह नहीं लगेगा कि उनकी पहली फिल्म है। अथिया शेट्टी ने भी बेहतरीन काम किया है। उनका काम भी बहुत सराहनीय है। फिल्म का संगीत कुछ खास कमाल नहीं कर पाया है।
हीरो में फिल्म का विलेन उसके डायरेक्टर लग रहे हंै। इस फिल्म का सबसे कमज़ोर हिस्सा फिल्म का डायरेक्शन है। अगर आपने हीरो फिल्म अभी तक नहीं देखी है तो पुरानी हीरो देख लीजिए। नई हीरो में आप सूरज और अथिया का काम देखकर खुश हो सकते हंै।