फिर फिर आए जीवन में सावन मन भावन!

02/08/2016 को प्रकाशित

इन्द्रधनुष के झूले में झूलें मिल सब जन,
फिर फिर आए जीवन में सावन मन भावन!