प्रीतम प्यारे को तो मिल गई प्रीती. आपको कोई मिला क्या? देखिये दिल की धड़कन से

ये कहानी है ललितपुर जिले के प्रीतम प्यारे और प्रीती की, जिनकी पहली मुलाकात मकर संक्रांति के दिन कचरोदा बांध के मेले में अंजनी माँ के मन्दिर में हुई थी।
प्रीतम प्यारे अपनी लव स्टोरी के बारें में बता रहे है कि पहले हम एक-दूसरे को पहचानते नहीं थे। मकर संक्रांति के दिन दोस्तों के साथ मेले में गया था। तब हमारी नजर मिली और हमनें एक-दूसरे को देखा तो प्यार हो गया। फिर हमारी फोन में बातें होने लगी और हम एक-दूसरे से मिलनें लगे। दिन प्रति दिन हमारी चाहत बढ़ने लगी। तब हमनें अपने परिवार में शादी के लिए बात की तो परिवार वाले पहले राजी नहीं थे, फिर बाद में दोनों के परिवार वाले राजी हो गये और हमारी शादी हो गई। हमें लगभग तीन साल तक अपनी शादी के लिए इंतजार करना पड़ा। प्रीती ने बताया कि मैंने अपने मम्मी पापा को बता दिया था कि प्रीतम प्यारे मुझे पसंद है और मैं इसी से शादी करूंगी।

रिपोर्टर- सुषमा

Published on Feb 9, 2018