प्रधान के ऊपर रूपिया लें का आरोप

2 pabaiyaजिला बांदा, ब्लाक बिसण्डा, गांव पबइया, मजरा भुराने पुरवा। हेंया के लगभग पचास मड़ई 15 अक्टूबर 2014 का ए.डी.एम. का दस रूपिया के स्टाम्प मा लिख के दिहिन कि प्रधान इन्द्रा आवास दें खातिर बीस-बीस हजार रूपिया लिहिस है। जबै कि प्रधान या बात नहीं मानिस आय।
शिवपूजन का कहब है-“2013-14 मा इन्द्रा आवास मिला रहै। प्रधान शीला देवी अउर प्रधान का लड़का सोनू सिंह कहिस कि बीस हजार रूपिया जिला के अधिकारिन का कालोनी पास करावैं मा हम अपने जेब से दीन है। मैं रूपिया दें से मना कई दीनंेव तौ उंई कालोनी खारिज करावैं के धमकी दिहिन। इलाहाबाद यू.पी. ग्रामीण बैंक शाखा भदेहदू के खाता से रूपिया निकलवा के रूपिया लई लिहिस है। मैं जबै विकास भवन के डी.आर.डी.ए. आफिस से पता करेंव तौ एकौ रूपिया नहीं लागत आय।”
विद्याकरन, मेडिया, चुन्नी, बाबूलाल का कहब है कि गांव मा कुल उनचास आवास आये रहैं। एक इन्द्रा आवास मा कुल सत्तर हजार रूपिया मिलत हैं। बीस हजार रूपिया प्रधान लई लिहिस। बचे प्रचास हजार मा कालोनी अधूरी रही जात हंै।
प्रधान शीला देवी का मनसवा बृजकिशोर कहत है कि मड़ई झूठ आरोप लगाइन हैं। उनचास मा चैबिस आवास के दूसर किस्त का रूपिया मिलब बाकी है। गांवदारी के कारन मड़ई इनतान कहिन हैं।
प्रभारी बी.डी.ओ. ओ.पी. मिश्रा कहिन कि उनके लगे इनतान के शिकाइत नहीं आई आय। अगर शिकाइत अई तौ कड़ी से कड़ी कारवाही कीन जई।