प्रधानमंत्री मोदी की इजराइल यात्रा

साभार: टाइम्स ऑफ़ इजराइल

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के आमंत्रण पर पीएम नरेंद्र मोदी 4 से 6 जुलाई के बीच इजरायल दौरे पर रहे।

नेतन्याहू ने प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करते हुए कहा, स्वागत है मेरे दोस्त, हम भारत से प्रेम करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी को भारत का एक महान नेता और महान वैश्विक नेताकरार देते हुए इस्राइली प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हम किसी भारतीय प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए 70 वर्षों से इंतजार कर रहे थे‘। हवाई अड्डे पर दोनों नेता एक दूसरे से तीन बार गले मिले। दोनों ने एक दूसरे को कई बार मेरा मित्रकहकर संबोधित किया।

सूत्रों अनुसार, किसी भारतीय प्रधानमंत्री की इजरायल की यह विशेष यात्रा भारत व इजरायल के कूटनीतिक संबंधों के 25 साल की पृष्ठिभूमि को पहचान देने के उद्देश से की गयी जिसके बाद  आगे दोनों देशों के बढ़ते संबंधों को मजबूती मिल सकेगी।

सूत्रों के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इजरायल दौरा रक्षा, कृषि, व्यापार, कूटनीति और जल प्रबंधन जैसे मुद्दों पर केंद्रित रहा।

प्रधानमंत्री मोदी के आने की खुशी में इजरायली प्रधानमंत्री ने उन्हें सम्मान दिया। इजरायल ने अपने एक बेहद खास फूल का नाम प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर रखा। यह फूल डैनजिगर डैन फार्म में है जो करीब 80,000 वर्ग मीटर में फैला अत्याधुनिक फार्म है। यरुशलम से 56 किलोमीटर दूर मोशाव मिशमार हाशिवा में 1953 में इसकी स्थापना की गई थी। स्थानीय बाजार और करीब 60 देशों को यहां से फूल-पौधे भेजे जाते हैं।

अपनी इस यात्रा में पीएम मोदी भी नेतन्याहू के लिए खास तोहफा लेकर गए। मोदी ने उन्हें केरल से लाई गई तो अवशेषों की प्रतिकृतियां भेंट की। इन्हें यहूदियों के भारत में लंबे इतिहास की मुख्य कलाकृति के रूप में देखा जाता है।