प्रधानमंत्री ने तीसरी बार किया अपने मंत्रीमंडल का विस्तार

फोटो साभार:ट्विटर/मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 सितम्बर को अपने मंत्रिमंडल में 9 चेहरों को शामिल कर लिया है। जबकि 4 मंत्रियों को तरक्की देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है।
बता दें कि मोदी सरकार के 3 साल के कार्यकाल में ये तीसरा कैबिनेट विस्तार है। मोदी के नए मंत्रीमंडल के तहत कई मंत्रियों के विभाग भी बदले गए हैं, तो वहीं कई मंत्रियों की मोदी कैबिनेट से छुट्टी कर दी गई है।
मोदी मंत्रिमंडल के चार मंत्रियों के कद बढ़ाकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया।धर्मेंद्र प्रधान को  कौशल विकास व पेट्रोलियम मंत्रालय।
निर्मला सीतारमण को रक्षा मंत्रालय का जिम्मा दिया गया। वह रक्षा मंत्री के तौर पर पहली पूर्णकालिक महिला मंत्री हैं।
सुरेश प्रभु से रेल मंत्रालय लेकर पीयूष गोयल को दिया गया है। पीयूष गोयल रेल मंत्रालय के अतिरिक्त कोयला मंत्रालय भी जिम्मा उनके पास है। सुरेश प्रभु वहीं अब वाणिज्य मंत्रालय का जिम्मा दिया गया है।
मुख्तार अब्बास नकवी की तरक्की हुई उन्हें अल्पसंख्यक कैबिनेट मंत्रालय का पूरी जिम्मा सौंप दिया गया है।
मोदी कैबिनेट में 9 नए चेहरों को शामिल किया गया है। इनमें तीन को स्वतंत्र प्रभार का जिम्मा दिया गया तो 6 को राज्यमंत्री बनाया गया।
राजकुमार सिंह को ऊर्जा एवं नवीकरणीय एवं अक्षय ऊर्जा मंत्रालय (स्वतंत्र प्रभार), हरदीप सिंह पुरी- आवास एवं शहरी मामलों का मंत्रालय (स्वतंत्र प्रभार) और अल्फ़ोंस कन्ननथनम- पर्यटन मंत्रालय (स्वतंत्र प्रभार) का जिम्मा दिया गया है।
शिव प्रताप शुक्ला को वित्त राज्यमंत्री, अश्विनी कुमार चौबे को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री। वीरेंद्र कुमार को महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री। अनंत कुमार हेगड़े को कौशल विकास राज्यमंत्री। गजेंद्र सिंह शेखावत को कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री और सत्यपाल सिंह को एचआरडी राज्यमंत्री बनाया गया है।
वहीँ, उमा भारती से जल संसाधन व गंगा सफाई मंत्रालय लेकर नितिन गडकरी को दे दिया गया है। जबकि उनके पास पहले से ही सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और जहाजरानी मंत्रालय का जिम्मा था।
स्मृति ईरानी को कपड़ा मंत्रालय के साथ-साथ सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का जिम्मा दिया गया। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के आईबी राज्यमंत्री हैं, ऐसे में उन्हें खेल मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार सौपां गया है।
दूसरी तरफ, कलराज मिश्रा, महेंद्र नाथ पांडेय, राजीव प्रताप रूडी, संजीव बालियान, फग्गन सिंह कुलस्ते और बंडारू दत्तात्रेय ने मंत्री पद से इस्तीफा दिया है।