प्रधानमंत्री ने आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं के वेतन और प्रलोभन में बढ़ोतरी की घोषणा की

साभार: विकिपीडिया

नमो ऐप के जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज आंगवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्हें एक बड़ी सौगात दी। इसे पीएम मोदी का एक बड़ा चुनावी तोहफा माना जा रहा है।

इस क्षेत्र से जुड़ी महिला कार्यकर्ताओं को बड़ी राहत देते हुये उनके मानदेय बढ़ाने का फैसला कर दिया है जिसकी मांग वह काफी दिनों से कर रही थीं। अपनी मांगों को लेकर ये कार्यकर्ता दिल्ली में प्रदर्शन और संसद का घेराव भी कर चुकी हैं।

विभिन्न दलों के सदस्य आशा कर्मियों एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय को बढ़ाने की समय समय पर मांग करते रहे हैं। नमो ऐप के जरिये आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये पीएम मोदी ने उनके काम की जमकर तारीफ भी की है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘एनीमिया मुक्त भारत के इस संकल्प को आप सभी पूरी ताकत से पूरा करेंगे। एनीमिया से मुक्ति का मतलब लाखों गर्भवती महिलाओं और बच्चों को जीवन दान है।’’

आपको बता दें कि आंकड़ों के मुताबिक देश में इस समय करीब 14 लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता हैं।

आशाकर्मियों की प्रोत्साहन राशि बढ़ाकर दोगना करने और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 3000 रूपये से बढ़ा कर 4500 रूपये करने का फैसला किया है। जिन आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 2250 रूपये था, उन्हें अब 3500 रूपये मिलेगा। आंगनवाड़ी सहायिकाओं को 1500 रूपये के स्थान पर 2250 रूपये मिलेंगे।    

यह बढ़ा हुआ मानदेय अगले माह यानी एक अक्तूबर से लागू हो जायेगा यानी नवंबर से नया पैसा या तनख्वाह या मानदेय मिलेगा। यह बढ़ी राशि केंद्र सरकार के हिस्से की है।  

आशा कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की प्रोत्साहन राशि को दोगुना करने के अलावा यह भी फैसला किया गया है कि उन्हें प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना मुफ्त दी जाएंगी।

दो-दो लाख रूपये की इन दोनों बीमा योजना के तहत कोई प्रीमियम नहीं देना होगा और यह खर्च सरकार उठायेगी। जो आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायक कॉमन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते है उनको अब प्रोत्साहन राशि 250 से बढ़ाकर 500 कर दी गई है।​​​