प्रदूषण से बचने के लिए आईआईटी दिल्ली के तीन छात्रों ने बनाया नैनो मास्क

साभार: वेबवर्ल्ड

प्रदूषण के कहर से मरती दिल्ली के लिए,आईआईटी दिल्ली के तीन छात्रों ने बिल्कुल छोटा नैनो फिल्टर मास्क तैयार किया है जिसकी कीमत सिर्फ दस रुपये है। मास्क के लिए लिखी गई लाइन है हैप्पी ब्रीदिंग यानी सुकून की सांस।
मास्क बनाने वाले ये तीनों छात्र प्रतीक शर्मा, तुषार और जतिन आईआईटी दिल्ली से स्नातक कर चुके हैं।
नैनो तकनीक का इस्तेमाल कर इन तीनों ने नाक पर चिपकने वाला बहुत छोटा सा फिल्टर बनाया है जिसके जरिए दस से बारह घंटे आराम से स्वच्छ सांस ली जा सकती है। इसकी कीमत इतनी कम है और इसके एक बार इस्तेमाल करने के बाद फेंकना होता है।
लगभग ढेढ़ साल की मेहनत के बाद इनकी ये खोज पूरी हुई और अब इसका व्यावसायिक उत्पादन भी किया जा रहा है। फिलहाल, आईआईटी दिल्ली के परिसर में ही नैनोक्लीन ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के नाम से स्टार्ट अप के तौर पर इसका उत्पादन किया जा रहा है।
पिछले चार दिनों में 20 हजार से ज्यादा फिल्टर बांटे जा चुके हैं। प्रतीक शर्मा का कहना है कि इसे जन जन तक पहुंचाने के लिए आधुनिक सोशल मीडिया का सहारा लिया गया। फेसबुक पेज नैनो फिल्टर के पेज पर इस प्रोडक्ट की जानकारी डाली गई।