प्रदूषण रोकने के लिए ‘500 क्विंटल’ लकड़ियाँ जला कर किया महायज्ञ

साभार: विकिमीडिया कॉमन्स

यूपी के मेरठ में 18 मार्च से नौ दिवसीय महायज्ञ शुरू हो गया है। वाराणसी से आए 350 ब्राह्मण शहर के भैंसली ग्राउंड पर 500 क्विंटल आम की लकड़ी के साथ इसलिए महायज्ञ कर रहे हैं ताकिप्रदूषण को कमकिया जा सके।
श्री अयुतचंदी महायज्ञ समिति की ओर से ग्राउंड में यज्ञशाला का निर्माण किया गया है और 108 हवन कुंड बनाए गए हैं।
वहीँ, उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इस मामले में इसलिए हस्तक्षेप करने से मना कर दिया क्योंकि यह एक विशेष धर्म से जुड़ा हुआ है। उसने कहा कि ऐसी कोई नीति नहीं है जिसके तहत जांच के आदेश दिए जाएं।
बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी आरके त्यागी ने कहा, ‘इतने बड़े पैमाने पर लकड़ी जलाने से निश्चित रूप से प्रदूषण होगा, लेकिन ऐसी कोई नीति नहीं है जिसके तहत जांच के आदेश दिए जा सकें।