पेट खे लाने मोत खे मुंह में

m-1जिला महोबा,ब्लाक कबरई, गांव  काली पहाड़ी। एते के 35 वर्षीय आदमी कृपाल राजपूत की पत्थर फोड़े वाली के्रशर जटाशंकर में काम करत समय ऊखी मोत हो गई हे

कृपाल के भतीजा सुजान ने बताओ कि कृपाल पहले पचपहरा मे काम करत हतो। ई के्रशर मे दो दिन काम करे गओ हे। 27 अप्रैल 2013 खे रात मे काम करत समय ऊ के्रषर मे उल्टा घुस गओ हे। पे ऊखो हाथ भर फटो हतो ओर कहूं नई लगो आय। पता नइयां ऊखी केसे मोत भई हे। हमे 28 अपै्रल 2013 खे सबेरे साढ़े आठ फोन से पता चलो हे । जभे कि के्रषर एते से दो किलो मीटर दूर हे। डेढ़ लाख की चेक देय खा कहत हतो। हमने नई लई आय, काय से कि ऊखे दो छोट-छोट लड़का हे ओर ओरत विकलांग हे। ऊखे आगे को कोनऊ सहारा नइयां, जीसे ऊखे कोनऊ खबा सके, हम तीन लाख रुपइया मांगत हे, अगर इत्तो रुपइया न देहे तो कोनऊ न कोनऊ कारवाही करहे। क्रेशर के मुनीम लालदिवान ने बताओ कि के्रशर मालिक ने दो लाख रुपइया देय खा कहो हे। जीसे आपस मे समझौता कर लओ हे।