पूर्वोत्तर भारत में भूकम्प के झटके

(फोटो साभार - आजतक)
(फोटो साभार – आजतक)

4 जनवरी की सुबह 4 बजकर 35 मिनट पर आए ज़ोरदार भूकम्प ने समूचे पूर्वोत्तर भारत को दहला दिया। भूकम्प के झटके पश्चिम बंगाल, झारखण्ड, बिहार, अरुणाचल प्रदेश सहित 11 राज्यों में महसूस किए गए हैं। भूकम्प की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.8 मापी गई है। भूकम्प का केंद्र मणिपुर की राजधानी इम्फाल से महज़ 33 किलोमीटर दूर तामेंगलांग में था।
इम्फाल के एक प्रशासनिक अधिकारी ने बताया कि नुकसान का अभी सटीक आंकड़ा नहीं है लेकिन बचाव और राहत कार्य जारी है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा हैं। इन राज्यों के अलावा म्यांमार और बांग्लादेश में भी भूकम्प आने से कुछ घरों के गिरने की खबर आ रही है।
इस भूकम्प में जान माल का भारी नुकसान हुआ। मणिपुर में न केवल नई बनाई गई मणिपुर विधानसभा को नुकसान पहुंचा बल्कि वहां की मशहूर इमा कैथल या मदर मार्किट को भी हानि उठानी पड़ी। ये बाज़ार एशिया का सबसे बड़ा औरतों का बाज़ार है। किसी भी समय यहां पांच हज़ार से छह हज़ार औरतें सामान बेच रही होती हैं। कुछ की तो स्थाई दुकानें हैं। कुछ आती है और सामान बेच कर चली जाती हैं। यहां सूखी मछली, मसाले, खिलौने और कपड़े सभी कुछ मिलता है। इस बाज़ार की सबसे महत्त्वपूर्ण विशेषता इसकी विविधता है। ये बाज़ार मेइतेई, मुसलमानों, ट्राइबलों सभी लोगों के लिए है। इस बाज़ार में आने वाली खुशबू, खाना और भाषा पूरे मणिपुर का प्रतिनिधित्व करती है।