मिलिए पर्वतरोहिणी पूर्णा मालावत से

साभार: यूट्यूब

1- पूर्णा मालावत का जन्म 10 जून 2000 में तेलंगाना के निजामाबाद जिले के ‘पकल’ गाँव में हुआ था।

2- पूर्णा भारत की पहली ऐसी युवा पर्वतारोहिणी हैं जिसने मात्र 13 वर्ष की आयु में 25 मई 2014 को विश्व की सबसे ऊँची चोटी माउण्ट एवरेस्ट पर चढने में सफलता प्राप्त की।

3- सबसे कम उम्र में एवरेस्ट की सबसे ऊंची चोटी छूने वाली पूर्णा देश और दुनिया की पहली लड़की हैं।

4- पूर्णा जिस समाज और जिस क्षेत्र से आती हैं, वहां कि 13 फीसदी से ज्यादा बच्च‍ियों का वजन सामान्य से बेहद कम है और लिटरेसी रेट सिर्फ 50 फीसदी है। ऐसे में पूर्णा ने न केवल अपने लिए रास्ता बनाया, बल्क‍ि अपने जैसी तमाम लड़कियों को सफलता का रास्ता दिखाया है।

5- हाल ही में पूर्णा के जीवन पर ‘पूर्णा’ नामक फ़िल्म बनाई गयी है। राहुल बोस निर्मित इस फिल्म में पूर्णा के संघर्ष और उनके सफलता की दास्तां को दिखाया जा रहा है। 

6- पूर्णा ने जब एवरेस्ट की चढ़ाई की तब वो 13 साल 11 महीने की थीं, जबकि इससे पहले यही काम करने वाली जॉर्डन रोमेरो ने 13 साल 10 महीने की उम्र में यह कारनामा किया था।