पुलिस के लापरवाही, चोरी के बाद चोरी

b cori ganva seजिला बांदा, ब्लाक बड़ोखर खुर्द,गांव गुरेह। हेंया 20 नवम्बर के रात लगातार चार घरन मा डाका डाल के बदमाश लगभग बारह लाख के चोरी कई लइगं। यहिके पहिले भी धनतेरस के बाद से चारी का सिलसिला लगातार चलत रहै। पुलिस चाहत तौ यतनी बड़ी चोरी होय से बच जात। पीडि़त मड़ई देहात कोतवाली मा अज्ञात मा रपट लिखाइन हैं।
अनिल सिंह के औरत सुप्रिया बताइस-“20 नवम्बर के रात साढे़ बारह बजे तक हम जागत रहन। वहिके बाद मैं सो गईवं अउर चार बजे सुबेरे जाग के दरवाजा खोलेंव तौ दरवाजा न खुला। बाहर से कुंडी लाग रहै। मैं दुसरे कमरा मा सोवत अउर लोगन का आवाज दीनंेव तौ उनके भी कुंडी लाग रहै। जबै खिड़की से मोहल्ला मा आवाज लगायेंव तौ उनके घरन के भी कुंडी लाग रहै। कउनौतान से सब बाहर आ पायेन। भीतर देखा तौ तिजोरी टूट अउर सामान बिथरान रहै। जेठ देवेन्द्र सिंह के घर अउर हमार चार लाख के जेवर नगद रूपिया, नींक नीक नये कपड़ा पुराने फूल, पीतल के चार बोरा बर्तन अउर बाइक चोरी कई लइगंे। मोरे पति का इलाज करावैं ग्वालियर लई जाय का रहै तौ रूपिया भी घर मा धरे रहैं। पहिले जेठ के घर मा चोरी करिन। वहिके घर से सीढ़ी ला के हमरे घर मा घुस आये हैं।
मोहल्ला के अउर मड़ई बताइन कि अनिल सिंह के घर चोरी करैं से पहिले राममिलन, मुन्ना अउर कुबेरा के घर चोरी करिन हैं। यहिके पहिले 7, 8 अउर 9 नवम्बर का भी चोरी होई चुकी रहै। देहात कोतवाली मा रपट लिखायेन रहन, पै पुलिस झांकैं तक नहीं आई। इनतान से पुलिस के लापरवाही या सोचैं का मजबूर करत है कि कतौं इं चोरिन मा पुलिस का भी तौ हाथ निहाय। आज बड़े घर मा चोरी भे है। तबै पुलिस आई है।
एस.पी.आर.पी. पाण्डेय का कहब है कि देहात कोतवाली मा रपट अज्ञात मा लिख लीन गे है। चोरन का ढूढ़ै के कोशिश जारी है।