पुरुष जो महिलाओं के अधिकारों के लिए पहन रहे हैं ‘स्कर्ट’

साभार: शी द पीपल
साभार: शी द पीपल

कई देशों में महिलाओं के साथ यौन हिंसा जैसी घटनाएँ नियमित रूप से देखने को मिलती हैं जिनमें से एक इंडोनेशिया भी है। हाल ही में एक अभियान द्वारा इंडोनेशिया में महिलाओं के खिलाफ हिंसा को समाप्त करने के लिए इंडोनेशिया के पुरुषों ने ठोस कदम उठाया। यह अभियान अपने आप में अनोखा है क्योंकि इस अभियान के लिए पुरुष स्कर्ट पहन रहे हैं।
इस अभियान को एक उपन्यासकार और न्यू पीपुल्स एलायंस संगठन के सदस्य स्याल्दी सहुदे ने शुरू किया है।
इस अभियान की शुरूआत तब हुई जब सहुदे ने एक रिपोर्ट में पढ़ा कि इंडोनेशिया की 85 प्रतिशत महिलाएं प्रतिदिन मारी-पीटी जाती हैं। सहुदे पिछले आठ सालों से महिलाओं के अधिकारों के लिए काम कर रहे हैं।
सहुदे कहते हैं कि “हमारे यहाँ महिलाओं की मदद के लिए महिलाएं सशक्तिकरण, क़ानूनी सहायता और संघर्ष करने के लिए कई कार्यकम चलाए जा रहे हैं लेकिन इन सब की जड़ यानी पुरुष से छुटकारा पाना आसान नहीं है।” सहुदे बताते है कि “हम दोस्तों ने मिल कर इस बात पर चर्चा की और समझा कि अक्सर महिलाओं के कपड़ो को लेकर उन्हें परेशान किया जाता है और उनके पहने हुए कपड़ों के आधार पर ही उनके प्रति सोच बना ली जाती है। इसी को केंद्र में रख कर हमने यह निश्चित किया कि हम स्कर्ट पहनेंगे और विरोध जताएंगे।”
महिला हिंसा के खिलाफ बने राष्ट्रीय आयोग के एक शोध के अनुसार, “इंडोनेशिया में 2015 के बाद से 3,00,000 से अधिक महिला हिंसा के मामले दर्ज किये गये। जिनमें मुख्य रूप से घरेलू और यौन हिंसा के मामले अधिक रहे हैं।
जुलाई में आये एक सर्वेक्षण के अनुसार, बलात्कार के 90 प्रतिशत ऐसे मामले हैं जिनकी रिपोर्ट इसलिए नहीं लिखी जाती क्योंकि महिलाओं को सामाजिक कलंक का डर दिखा कर चुप करा दिया जाता है। न्यू पीपुल्स एलायंस, नामक इस संगठन ने इसी कलंक को खत्म करना ही अपना लक्ष्य बना लिया है।