पिछली सरकार में तीन महीने में पेंशन तो मिलता था, अब तो सुनवाई भी नहीं, झांसी जिले के डगरिया गांव में

जिला झांसी, गांव डगरिया उत्तर प्रदेश सरकार ने बुजुर्ग विधवा और विकलांग पेंशन योजना की शुरुवात करी ती। जई से उन्हें हर महिना रुपइया मिलने ते। जे रुपइया उन ओरन के लाने हे जिनकी कोनऊ आय नइया। लेकिन झांसी जिला के डगरिया गांव में विधवा और वृद्धा ओरतन को मिलबे वाली पेंशन महिनन से नइ आई। ओरते इते उते से मांग के बच्चन को पाल रई।जिला झांसी, गांव डगरिया उत्तर प्रदेश सरकार ने बुजुर्ग विधवा और विकलांग पेंशन योजना की शुरुवात करी ती। जई से उन्हें हर महिना रुपइया मिलने ते। जे रुपइया उन ओरन के लाने हे जिनकी कोनऊ आय नइया। लेकिन झांसी जिला के डगरिया गांव में विधवा और वृद्धा ओरतन को मिलबे वाली पेंशन महिनन से नइ आई। ओरते इते उते से मांग के बच्चन को पाल रई। वृद्ध ओरतन को कबो हे के बे रुपइया के लाने परेशान हो रई। इनके अनुसार पिछली सरकार से तीन महीनन में पेंशन मिल जात ती लेकिन जब से भाजपा सरकार बनी तब से जो दिक्कत सामने आई। अब तो न कछू काम मिल रओ न पेंशन आ रई। सायरा ने बताई के एक साल से नइ आई हमाई पेंशन। पेंशन को बधे हो तो गयी तीन साले मीरा ने बताई के सातबो महिना चल रओ अबे मिली ही नइया सब कछू की परेशानी हो रई। साबिर ने बताई के हम से कछू काम बनत नइया हे। मोड़ी मोड़ा जो कमा लेयात सो खर्च चल जात। हम से तो नरेगा को काम भी नइ बनत के बई से अपनों खर्चा चला लेबे। वरिष्ठ लिपिक राजीव शर्मा ने बताई के जनवरी में रुपइया गये ते पंद्रह सौ जो जनवरी, फरवरी और मार्च के हते। अब जून पूरो होबे के बाद फिर तीन महीना की जेहे अप्रैल मई और जून की।

रिपोर्टर- सफीना

15/06/2017 को प्रकाशित