पार्टियों के वोट समीकरण को हिला देने वाली युवा पीढ़ी कैसे चुनती है नेता? #UPElection2017 #UPpolls2017

जिला बांदा, कस्बा बांदा उत्तर प्रदेश के 17 विधानसभा आपन रंग देखाब शुरू कइ दिहिस है। बुन्देलखण्ड के बांदा जिला मा भी चार विधानसभा क्षेत्र मा चुनाव का रंग देखाई पड़त है।
बसपा, सपा, भाजपा सबै पार्टी के उम्मीदवार आपन-आपन प्रचार मा लाग हैं। देश के दिशा बदले मा नये मतदाता का नवसिखिया नहीं कहि सकित हन। काहे से चुनाव मा इं नये मतदाता कउनौ भी उम्मीदवार का जिता सकत हैं। या दरकी एक लाख नये मतदाता हैं।
अठारह साल के शिवानी कहत है कि या दरकी मै पहली बार वोट डाले जइहौ मैं चाहत हौ कि जल्दी से वा दिन आवै जबै मै वोट डालो। स्मार्ट फोन समेत राज्य सरकार बहुतै वादा करिस हवै सपा के सरकार फेर से बनी तौ मड़इन का स्मार्ट फोन मिलिहैं।
बीस साल के प्रियंका ख़ुशी होइ के बतावत है कि मैं पहली दरकी वोट डाले जइ हौ या सोच के मोहिका बहुतै खुशी होत है। हम जेहिका चाहित हन वहिका वोट देबै। प्रधानमंत्री देश हित के लाने बहुतै अच्छा काम करिन हैं । डिजिटल इण्डिया बनाइन है सफाई अभियान चलाइन है, नोटबंदी कइके नींक फैसला करिन है।
बाइस साल के सुमन बतावत है कि मुख्यमंत्री जउन बोलत है वा बिलकुल ठीक बोलत है। उंई एक अइसे नेता है जउन देश मा परिवर्तन लावे चाहत है। आपन परिवार राजनीति मा नहीं लावत हैं परिवार से हटके देश खातिर उचित फैसला करत हैं।
रेहाना बेगम का कहब है कि देश अउर राज्य के लाने तौ हमें मंत्री चुने का पड़ी। यहै खातिर वोट सबका डाले का चाही।
अठारह साल के पूनम का कहब है कि हमार राज्य मा इनतान का मुख्यमंत्री होवे का चाही जउन बिटियन के पढ़ाई मा मदद करै।बिटियन खातिर लैपटॉप वजीफा जइसे साधन कै व्यवस्था करैं।जेहिसे उंई आपन पढ़ाई नींकतान कर सकै।

रिपोर्टर- मीरा देवी

Published on Feb 21, 2017