पाबंदियो को तोड़ चलतें हैं, बांदा जिले के डढवामानपुर गांव की प्रधान सारिका से मिलते हैं

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, कस्बा फतेहगंज, गांव डढ़वामानपुर। फतेहगंज इलाका पहाड़ी अउर डकैतन का इलाका आय।इनतान के इलाका मा 23 साल के सारिका गुप्ता प्रधान है।
प्रधान सारिका गुप्ता आपन कहानी अउर प्रधानी के बारे मा बतावत है कि मोर बचपन से सपना रहैकि मैं गरीबन खातिर कुछौ काम करौ पै या काम मोहिका प्रधान बन के करै का पड़ी या नहीं पता रहै गरीब खातिर अउर गांव के विकास खातिर सब काम करै चाहत है।बच्चन का पढावै का है अउर गांव मा रोजगार लावे का है जेहिके मड़ई पलायन न करै का पड़ै।मेहरियन खातिर बहुतै कुछ करै चाहत हौं जेहिसे उंई दूसरे के आगे हाथ न फइलावै अ उर रुपिया कमा सकै।स्कूल मा जुड़ो कराटे सीखावे का सपना है जेहिसे लड़की अउर मेहरिया आपन रक्षा कइ सकै।
मोहिका फूल बने अंगारे फिल्म मा रेखा का रोल बहुतै नींक लागत रहै अउर मैं वहिके जइसे पुलिस बने चाहत रहि हौं।आपन आगे के पढ़ाई करत रहि हौं जेहिसे  भविष्य मा कुछ बन सकौ अउर रुपिया कमा सकै।मोहिका खुल के जियत पसंद है।कउनौ के रोक टोक नींक नहीं लागत आय।

रिपोर्टर-मीरा देवी और गीता देवी

29/08/2017 को प्रकाशित