पानी में डूबा हुआ पुल चित्रकूट में!

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव डोड़िया माफ़ी हिंया तीन साल पहिले रेलवे विभाग का पुल बना रहैं। पै या पुल मा 5 फुट गहरा पानी भरा रहत हवैं। जेहिसे लगभग दस गांव के मडइन का निकलै मा बहुतै परेशानी होत हवैं।
ऊपर से रेलवे पटरी पार कइके निकले अबै तक तीन मड़इन के जान चली गे हवैं। रेलवे विभाग कहत हवै कि समय समय मा पुल का पानी निकलवा दीन जात हवै
विनोद िदवेदी का कहब कि पानी भरा होय के कारन पुल से कोउ नहीं निकलत आय पुल के बगल मा कुंआ बना रहै पानी भरा होय के कारन कुंआ गिरगा हवैं। रेलवे लाइन पार कइके रोज लगभग पांच सौ स्कूली बच्चा निकलत हवैं जिनके जान का खतरा रहत हवैं।
अबै तक तीन मडइन के जान गाड़ी मा कटे से चली गे हवैं। जेहिमा मोर भाई रज्जन मिश्रा दूसर अभया नाम के मेहरिया अउर तीसर शिवमूरत शामिल हवैं।
विनय पांडेय अउर राज बहादुर का कहब हवै कि डोड़िया गाहुर, मनका अउर रैपुरा समेत कइयौ गांवन के मड़ई हिंया से निकलत हवैं। मोटर साइकिल ट्रैक्टर जइसे वाहन निकालै मा बहुतै परेशानी होत हवैं। पै हमार या समस्या का ध्यान नही दीन जात हवैं।
रेलवे विभाग के सहायक मंडल अभियन्ता दीपक चौबे का कहब हवै कि पुल का पानी समय समय मा निकलवा दीन जात हवै।

रिपोर्टर- सुनीता

08/12/2016 को प्रकाशित