पानी के संकट से जूझता ललितपुर जिले का भौरा गाँव

जिला ललितपुर, गांव भौरा। यह गांव बीस साल से पानी के संकट से जूझ रहा है।पानी की कोंई सुविधा नहीं है लोग गन्दा पानी पीने को मजबूर है।
सोना का कहना कि हम यहां बीस साल से रह रहे है। कुएं का गन्दा पानी पीते है। तीन हजार रूपये हैण्डपम्प लगनें के मांगते है।
संतोष ने बताया कि हमारे पास रूपये होते तो खुद हैण्डपम्प लगवा लेते। मजबूरी में गन्दा पानी पीते है। चाहें मरे या जियें प्रधान हमारे मुहल्ले में हैन्डपम्प नहीं लगवाता है।माया ने बताया कि पानी में कीड़ा और कूड़ा सब कुछ पड़ा रहता है मजबूरी में हमें उसी पानी को पीना पड़ता है। जिससे मलेरिया बुखार हो जाता है। पानी लेने के लिए हमें एक किलोमीटर दूर जाना पड़ता है। प्रधान प्रतिनिधि धन सिंह का कहना है कि हमारे गांव की आबादी तीन हजार है। बारह रिबोर हैं एक मुहल्ले में पानी कि बहुत परेशानी है। उसके लिए पन्द्रह हैन्डपम्प की मांग की है मार्च अप्रैल तक हैन्डपम्प लग जायेंगे।
बाईलाइन-राजकुमारी
Published on Nov 7, 2017