पानी के परेशानी

इ हइ विद्यालय के चापाकल
इ हइ विद्यालय के चापाकल

जिला सीतामढी़, प्रखंड रीगा, पंचायत, गणेशपुर बभनगामा, गांव गणेशपुर। उहां प्रथमिक विद्यालय में लगभग छौ महिना से चापाकल खराब हई। जेइ कारण रसोइया से लेके बच्चा सब के बरा पेरशानी होइ छई। जब कि विद्यालय में कुल नामांकन दो सौ पचीस हई।
विद्यालय के बच्चा बेबी कुमारी, अफताब, दिसू कहलथिन कि हम जब विद्यालय में खाना खाई छी त घर से बोतल में पानी लेके जाइ ले, न त पेट्र्ोल पम्प से पानी पी के अबइ छी। रसोइया सुशिला देवी, रानी देवी कहलथिन कि हम सब खाना बनावे के लेल लगभग एककिलो मीटर दूर पेट्रोल पम्प तर से पानी लवइ छी। उतना दुर से लावे में तबीयत खराब हो जाइय। शिक्षक सुरेश राम कहलथिन कि विद्यालय में चापाकल हमेशा बनवा देइ छी लेकिन हमेशा चोर खोल के ले जाइ छइ। कारण कि इ सड़क हमेशा चालू रहइ छई। अब बनतइ त स्कूल बंद होय के बाद हैण्डील खोल के रख देवे के होतइ तब अच्छा रहतइ।
प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी इसलाम अंसारी कहलथिन कि आवेदन देथिन त पी.एच.इ.डी. विभाग से बनवा देल जतई।