पानी की तलाश में मीलों भटक रहें हैं ललितपुर जिले के भदौरा गाँव के लोग

जिला ललितपुर, ब्लाक महरौनी, गांव भदौरा में पन्द्रह सौ की आबादी में छह हैन्डपम्प हैं। जिनमें से चार चालू हैं बाकी सूखे पड़े हैं। जिससे लोगों को दूर-दूर पानी के लिए भटकना पड़ता है।
सन्तोष कुमार का कहना है कि पानी भरने के लिए बहुत दूर जाना पड़ता है। परिवार में दो-चार बच्चें हैं तो कपड़े धोने में बहुत परेशानी होती है। सुनीता बाई ने बताया कि हम पानी की समस्या को बहुत दिनों से झेल रहे हैं, प्रधान नहीं सुनता है। बुदा बाई का कहना है कि हम बूढ़े है पानी के लिए जाते हैं तो गिर जाते हैं। किरन का कहना है कि एक किलोमीटर दूर से साइकिल से पानी लातें हैं। धूप लगती है और हाथ-पैर दुखते हैं, क्या करे मजबूरी में लाना पड़ता है।लाड कुंवर का कहना है कि प्रधान हैन्डपम्प में चैन तक नहीं लगवाता है बच्चें कील लगाकर पानी भरते हैं।
प्रधान नाथूराम का कहना है कि बीस नये हैन्डपम्प लगना है।
एसडीएम धीरेन्द्र प्रताप सिंह का कहना है कि जांच करायेगे तब जल निगम से हैन्डपम्प लगाये जायेगें। हैन्डपम्प से पानी न निकलने पर टैंकर की व्यवस्था की जायेगी।

रिपोर्टर- राजकुमारी

Published on Apr 4, 2018