पाकिस्तान सुपर लीग: मैच के साथ पाकिस्तान ने लोगों के दिल भी जीते

साभार: पी एस एल/ट्विटर

5 मार्च को लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में खेले गए पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के फाइनल में पेशावर जल्मी ने क्वेटा ग्लेडिएटर्स को 58 रन से हराकर खिताब जीत लिया।
फाइनल में टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए पेशावर जल्मी ने 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 148 रन बनाए। पेशावर के लिए कामरान अकमल ने 32 गेंदों पर 40 रन की पारी खेली, जबकि कप्तान डैरेन सैमी ने 28 रन का योगदान दिया। क्वेटा के लिए रियाद एमरित ने 3 विकेट लिए जबकि हसन खान ने 2 विकेट लिए। पेशावर के लिए मोहम्मद असगर ने 3 और हसन अली और वहाब रियाज ने 2-2 विकेट लिए। इस तरह पेशावर जल्मी ने क्वेटा ग्लेडिएटर्स को 58 रन से हराते हुए पीएसएल 2017 का खिताब अपने नाम कर लिया।
लाहौर में खेले गए इस फाइनल को लेकर काफी विवाद हुआ था सुरक्षा कारणों से कई विदेशी खिलाड़ियों ने यहां होने वाले फाइनल में खेलने से इनकार कर दिया था। लेकिन फाइनल के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे और पूरे स्टेडियम को किले में तब्दील कर दिया गया था और करीब 10 हजार सुरक्षाकर्मी यहा तैनात किए गए थे। इस मैच को लेकर स्थानीय लोगों में जबर्दस्त उत्साह था और मैच की 18 हजार टिकटें बिकी थीं।
इस बीच यह भी चर्चा है कि पीएसएल के फाइनल को पाकिस्तान से ज्यादा भारतीय लोगों ने देखा। पीएसएल फाइनल के साथ ही लगभग सात साल के लंबे अंतराल के बाद पाकिस्तान और लाहौर में खेले गए किसी मैच पहली बार विदेशी खिलाड़ियों ने भाग लिया। इससे पाकिस्तान ने अपनी धरती पर अतंर्राष्ट्रीय मैचों के आयोजन की तरफ एक कदम बढ़ा दिया है।