पहिले बाढ़ अब मलवा करे हवै परेशान

wikimediaबुन्देलखण्ड के कइयौ जिलन मा पिछले महीना बहुतै ज्यादा बाढ़ आई रहैं सबै नदी तालाब उफ्लान रहै। यहै हाल चित्रकूट जिला के भी रहै। हिंया के तौ हजारन मड़ई घर से बेघर भी होइ गा हवै। पै अबै तक कउनौ सुविधा उनका नहीं मिला आय। पहिले तो बाढ़ से जघा जघा पानी भरा रहै बाढ़ ख़तम होये के बाद वहिकर कादौं से लोग परेशान हवैं जघा जघा मलवा देखात हवै।
मानिकपुर क्षेत्र के मड़इन का कहब हवै कि हमरे घरन मा पानी भर गा रहै जेहिसे घर गिर गें रहैं जघा जघा माटी अउर कादौं भरा परा हवै हम निकारत निकारत थक गयेंन हन। पै सरकार कुछौ सुविधा हमका कहे नहीं देत आये?
यहिनतान मंदाकनी नदी मा बहुतै बाढ़ आई रहै वहिके साथै दुनिया भर के गंदगी दुकानन मा भरी हवै। पै नगर पालिका विभाग कइती से कउनौ कारवाही नहीं कीन गे आये। मड़ई खुदै मलवा निकाले मा लाग हवैं।
मऊ क्षेत्र के कुछ लोगन का कहब हवै कि यमुना नदी मा येत्ती ज्यादा बाढ़ आई रहै कि मड़इन का सड़कन से आवै जाये का रास्ता बंद रहै सड़क मा पानी भरा रहै। पानी तौ खतम होइ गा, पै वहिकर माटी सड़क मा ऊंच ऊंच जम गे हवै। या कारन एक महीना से सड़क मा वाहन चलावै मा बहुतै परेशानी होत हवै।
शासन प्रशासन बाढ़ के समय तौ बढ़ चढ़ के लोगन के मदद मा लाग रहै ,पै अब काहे नहीं मलवा साफ करवावत आये? मड़इन के परेशानी कउन दूर करी? का सरकार के लगे मलवा हटवावै खातिर कउनौ व्यवस्था अउर रुपिया नही आय?