पहली बार बाँदा आये योगी जी, हमें निराश कर लौट गये

जिल बांदा, क़स्बा बांदा 20 मई का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहली बार हेंया आये रहै। मुख्यमंत्री से मिले खातिर हेंया के मड़ई कइयौ मील चल के आपन समस्या सुनावै आये रहै पै मड़इन का निराशा होइ के वापस लउटे का पड़ा।
जिला अध्यक्ष विनोद कुमारी का कहब है कि हम मुख्यमंत्री से मिले बहुतै दूरी नरैनी बबेरू से आये हन। पै पुलिस अउर प्रशासन हमें मिले नहीं देत आहीं। चुनाव के समय तौ वोट लेत है पै समस्या नहीं सुनत आहीं। एक मेहरिया रोवत रोवत आपन समस्या बतावत है कि मोरे साथै थाना मा दुष्कर्म कीन गा है मोर कत्तौ सुनवाई नहीं होत आय। पुलिस मुख्यमंत्री से मिले नहीं देत कि कत्तौ पुलिस प्रशासन के पोल न खुल जायें।
किसान यूनियन अध्यक्ष बलराम तिवारी का कहब है कि किसानन के समस्या खातिर मुख्यमंत्री से मिले आये रहै।काहे से जिला प्रशासन मा हमार कुछौ सुनवाई नहीं होत आये।
बिजली, पानी जइसे समस्या पर्यटक स्थल, कताई मील ग्लास फैक्ट्री जइसे समस्या खतम करै खातिर भी मुख्यमंत्री से मिले आये रहेंन।
मुख्यमंत्री से मिलावै का भरोसा दे के बाद भी नहीं मिलावा गा आय। प्रशासन कहत है कि भाजपा पार्टी वाले बस मुख्यमंत्री से मिल सकत है।
समाज सेवक पी . सी . पटेल का कहब है कि हम मुख्यमंत्री से मिले बबेरू से आये हन। हम भ्रष्टाचार के खिलाफ़ काम करित हन। यहै कारन आरोपी हमें जान से मारे के धमकी देत है। पै पुलिस प्रशासन कुछौ सुनवाई नहीं करत आहीं। हमारे साथै कत्तो भी कुछौ होइ सकत है।
जनता जनसभा का इन्तजार करत रहिगें पै योगी जी मीटिंग विभाग चले गें। हजारों मड़ई जनसभा का इन्तजार करत आपन समस्या लिए निराश होई के लउट गें हैं।मड़ई सोचत रहै कि मुख्यमंत्री से मिलके आपन समस्या बतइहौ।

रिपोर्टर- गीता देवी

24/05/2017 को प्रकाशित