परिवारवालों का आरोप, गलत इंजेक्शन से गई बच्चे की जान, फैजाबाद जिले के ऋषिटोला का मामला

जिला फैजाबाद, मोहल्ला ऋषि टोला गांव देहात मा स्वास्थ सेवा का हमेशा से नजर अंदाज कै जाथै। सरकारी अस्पताल मा डाक्टर अउर नर्स कै न्युक्ति न के बराबर हुआथै। लकिन जेतना डाक्टर अउर नर्स अहैं भी वै आपन काम सही से नाय करते। जिनके लापरवाही से अक्सर मरीज कै जान चली जाथै। फैजाबाद के ऋषि टोला मा एक यइसन मामला सामने आय बाय। जहां परिवार वाले कै आरोप बाय कि गलत सूई लगावै से पन्द्रह साल के लड़का कै म उत होइगै।
विश्राम प्रजापति मृतक के पिता कै कहब बाय की एक नर्स आई पता नाय कवन सूई लगाइस की हमार बेटवा पांच मिनट के अन्दर तड़फ तड़फ के मरिगा।
विशु प्रजापति मृतक के भाई कै कहब बाय कि शनिवार का ग्यारह बजे जब हम गयन तौ हमार भाई ठीक रहा। तीन बजे तक हम वही बैठा रहेन। नर्स अपने रूम से ही सूई लइके आई लगाय दिहिन। पांच मिनट मा हमार भाई उल्टी साँस लियै लाग। जब तड़फ के खतम होइगा तब आक्सीजन लगावत रहे। वही समय सबसे कहेन लकिन कंपाउंडर कहिस कि डाक्टर शाम तक अइहैं अउर केहू देखै नाय आय।
रिकाबगंज चौकी प्रभारी रघुबीर सिंह मृतक पिंकू के मां श्रीमती बिमलेश के तहरीर पै डाक्टर खुशबू के खिलाफ 440/17 धारा 204ए के तहत मुकदमा दर्ज कै लेहे अहैं। वही येही मामला मा जिला अस्पताल कै सीएमओ डाक्टर हरिओम कुछ भी बतावै से इनकार कै दिहिन। तौ का लापरवाही यइसन ही जारी रहे या स्वास्थ्य व्यवस्था मा बदलाव भी आये।

रिपोर्टर- मनीषा

02/06/2017 को प्रकाशित