पन्ना जिले के राजापुर गाँव में पानी के लिए 2-3 सालों से मची है त्राहि-त्राहि

पन्ना जिला के राजापुर गांव में दलित बस्ती में 2,3 साल से पानी के लिये त्राहि त्राहि मची हुई है। यहाँ 500 लोगों के लिए एक कुआं है, वो भी सूख रहा है।

नत्थू ने बताया कि समस्या हमारे यहाँ पानी की सबसे बड़ी है। सबसे ज्यादा पानी की दिक्कत जानवरों को होती है। एक किलोमीटर ददूर से पानी लाना पड़ता है। कम से कम 500 लोग पानी के लिए परेशान हैं। ये समस्या 2,3 साल से लगातर चल रही है। इसके पहले कुआँ का पानी छानकर पीते थे। श्यामलाल का कहना है कि कुआँ की सफाई करने का प्रयास तो बहुत करते है, लेकिन उस कुँए में उतरने से लोग बहुत डरते हैं। कुआं कब भसक जाए किसी को नहीं पता इसलिए लोग कुँए में उतरने से डरते हैं। गौरी ने बताया कि कुआँ, तालाब गांव के बाहर भी है,लेकिन वो सूखे पड़े हैं। पानी तो हर काम में लगता है। खाने-पीने नहाने कपड़ा धोने आदि सब में आदि सब में लगता है। जनपद अध्यक्ष भरत मिलन पांडे का कहना है कि पिछले साल मैंने सात हैंडपंप जहां जहाँ मांग थी वहां लगवाए हैं। अभी जनता की मांग पूरी करने का प्रयास करूंगा। अगर मेरे पास मांग पत्र आया तो जरूर हैंडपंप लगवाऊंगा।    

रिपोर्टर: प्रमिला

Published on May 31, 2018