पद्मावत के विरोध के चलते करणी सेना ने बच्चों से भरी बस को जलाने की कोशिश, वीडियो हुआ वायरल

साभार: ट्विटर

फिल्म पद्मावत के विरोध में करणी सेना के कार्यकर्ताओं का हिंसक प्रदर्शन लगातार जारी है। 24 जनवरी को कुछ उपद्रवियों ने गुरुग्राम में एक स्कूली बस पर हमला बोल दिया।
गुरुग्राम के जीडी गोयनका स्कूल की बच्चों से भरी बस पर उपद्रवियों ने तब पथराव किया। यही नहीं, उन्होंने बस में आग लगाने की भी कोशिश की। हालांकि बाद में पुलिस और भीड़ से निकले कुछ युवाओं के विरोध के बाद उपद्रवी वहां से फरार हो गए। इस दौरान बस में कुछ बच्चों को चोटें भी आई।
एक अंग्रेजी अख़बार के अनुसार, गुरुग्राम के सोहन स्थित जीडी गोयनका वर्ल्ड स्कूल की बस 22 बच्चों और तीन टीचर को लेकर शाम करीब चार बजे भोंडसी की ओर रही थी। ठीक इसी समय भोंडसी के पास उपद्रवियों ने रोडवेज की बस में तोड़फोड़ के बाद आग लगाई थी। पुलिस ने इन उपद्रवियों को यहां से खदेड़ा तो ये भाग निकले और सामने से रही स्कूल बस को जबरन रुकवा लिया।
बस में बड़ी संख्या में बच्चों के होने के बावजूद प्रदर्शनकारियों ने बस पर हमला बोल दिया। बस में बैठे टीचर और बच्चे सहम गए। इस दौरान बच्चों ने रोना शुरू कर दिया। स्कूली बस पर हुए इस हमले का विडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है। इस विडियो में अध्यापक रहम की भीख मांग रहे हैं लेकिन बच्चों की चीखपुकार के बीच उपद्रवियों का पथराव जारी रहा।
वहीं, करणी सेना ने इस मामले में आरोपों को खारिज किया है। श्री राजपूत करणी सेना सोशल मीडिया अकाउंट से सफाई देते हुए कहा गया, ‘एक विडियो बनाया, फिर बिना जांच उसे हर चैनल पर चलाया, फिर राजपूतों को दोषी ठहराया। जिन लोगों को आज तक आतंकियों का धर्म नहीं पता चला, उन्हें बिना जांच, बिना दिखे पत्थर फेंकने वाले की जाति दिख गई और कुछ गद्दार उस विडियो पर अपनी प्रतिक्रिया देने लगे।
बता दें कि गुरुवार को पद्मावत रिलीज होने वाली है। उसके ठीक एक दिन पहले यानी बुधवार को करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने देश भर के अलगअलग हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन किया। करणी सेना के उपद्रव की वजह से लखनऊ में फिल्म का प्रीमियर रद्द कर दिया गया है।