पंचायत के आदेश पर पति ने काटे पत्नी के बाल!

साभार: नई दुनिया
साभार: नई दुनिया

मुर्शिदाबाद के चांदपुर गांव शालीश सभा ने महिला के अन्य आदमी से संबंध होने की शिकायत पर सुनवाई करते हुए उसके पति को मजबूर किया कि वो सजा के तौर पर अपनी पत्नी के बाल काट दे।
दरअसल, सभा ने एक 32 वर्षीय महिला पर अन्य आदमी के साथ संबंध का आरोप लगाया था। सभा ने सजा के तौर पर सम्मान की कीमत के रूप में महिला और उसके पति को 6 हजार रुपए जमा करवाने को कहा था।
दंपति ने जैसे-तैसे हजार रुपए जमा किए और सभा को कहा कि बाकि जुर्माना माफ कर दे। लेकिन सभा ने ऐसा करने से इंकार करते हुए पति को मजबूर किया कि वो अपनी पत्नी के बाल काट दे।
यह पश्चिम बंगाल की एक जाति पंचायत है और ये उसी का एक रूप है जो इससे पहले भी कई विवादित फैसले दे चुकी है जिनमें महिलाओं के साथ हिंसा हुई है।