पंचकूला में दिखाया जाएगा विश्व का सबसे लम्बा रावण

विकिमीडिया कॉमन्स

विश्व का सबसे लम्बा रावण पंजाब के पंचकूला शहर में प्रदर्शन के लिए रखा जाएगा, जिसकी लम्बाई 215 फुट है। रावण के पुतले को बनाने वाले तिजेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि इस रावण के चेहरे का वजह 300 किलोग्राम है, जो फाइबर ग्लास से बना है। ये पुतला केवल पांच दिनों के लिए प्रदर्शन के लिए रखा जाएगा। आपको बता दें कि इस पुतले में 7 हजार किलोग्राम बांस, 2 सौ किलोग्राम गोंद, 6 सौ किलोग्राम कागज- कपड़ा और 20 कुंटल लोहे का प्रयोग किया गया है। इस पुतले की कीमत 30 लाख के करीब है।  

इस रावण की तलवार 50 फुट, जूती 30 फुट और मुकूट 30 फुट लम्बे हैं। दशहरा 19 अक्टूबर को मनाया जाएगा, जिस कारण से ये रावण 15 अक्टूबर से लोगों के देखने के लिए रखा जाएगा। पहले इस पुतले का दहन अंबाला के बरारा में होना था। लेकिन स्थान उपलब्धिता के कारण इसे पंचकूला में भेज दिया गया है।

पुतले की घुटने से कंधों तक की गोलाई 85 फुट है। वहीं इसके बांहें की गोलाई 40 फीट तक होगी, जिसके आभूषण को बनाने का काम चल रहा है। पुतले का निर्माण कार्य दिन-रात चल रहा है, अब इसे पूरा करने में एक महीने का समय ही बचा है। अयोजक संदीप गुप्ता मुख्य सचिव माता मंसा देवी चेरिटेबल ट्रस्ट ने बताया कि ये आयोजन परेड ग्राउण्ड के स्थान पर शालीमार ग्राउण्ड में हो रहा है, क्योंकि परेड ग्राउण्ड लोगों की भीड़ के अनुकूल नहीं है। आयोजन के स्थान की पूरी सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी। इस पुलते में इस्तेमाल होने वाले पटाके इको फ्रेंडली हैं, जिसकी कीमत 5 लाख रुपये है। इस कार्यक्रम में कुभकर्ण और मेघनाथ के पुतले नहीं जलाया जाएगा, केवल रावण का ही दहन होगा।