न मिललई ट्रेनिंग कईसे होतई काम

जिला षिवहर। इहां के कोई फोटोग्राॅफर (जे विद्यालय के षिक्षक भी हई) के ट्रेनिंग न मिलल हई। कुछ लोग एकरा लेके बहुत परेषान छथिन कि काम कइसे होतई।
अरूण सिंह, अर्जून सिंह, नवीन कुमार, दिलिप कुमार, षिक्षक असगर अल्ली (जे वोट के दिन फोटोग्राफी करथिन) के कहना हई कि हमरा वोट के दिन फोटोग्राफी करे के हई। तरियानी प्रखण्ड में कुल 64 फोटोग्राफर हई, पर ओकरा कोई ट्रेनिंग न देल गेलईय। षुरू में कहल गेल रहई कि ट्रेनिंग देल जतई लेकिन अभी तक न मिललई। हमरा में से त केतना त डिजिटल कैमरा चलएले भी न छथिन। केना हम सब कैमरा में एक से पच्चीस तक फोटो के फाइल बना पवई? कईसे हम अधिकारी के फोटो लेबई। बगल के जिला सीतामढ़ी में भी ट्रेनिंग मिल गेलई।
स्वीप कार्यालय के प्रभारी सत्येन्द्र कुमार कहलथिन कि हमसब ट्रेनिंग देयेले छी। पचास बूथ के फोटोग्राफर के हमसब ट्रेनिंग देबईली। अब कब होलई इ याद न हई। षिक्षक के पोस्टर के फाटो खिंच के इमेल करे के हई। ऐई के लेल उनका सब के ट्रेनिंग न देल गेलईय।