नोटिस देख के उड़ गई नींद

तहसील में पहरा के किसाान
तहसील में पहरा के किसाान

जिला महोबा, ब्लाक कबरई, गांव पहरा। एते के किसान ने पांच साल पेहले यू.पी. ग्रामीण बैंक से क्रेडिट कार्ड के तहत कर्जा लओ हतो। सूखा ओला वृष्टि के कारण किसानन ने रूपइया नई भर पाओ हे। जीसे बैंक से नोटिस भेजी हे ओर रूपइया जमा न करें पे, कारवाही की धमकी दई हे। जीसे किसान परेशान होके 20 मई 2014 खा डी.एम. खा तहसील दिवस में दरखास दई हे, ओर कर्ज माफ करे की मांग करी हे।
लड़ाकू पुत्र मौजीलाल ने कहो कि मेने पांच साल पेहले क्रेडिट कार्ड के तहत पंैतिस हजार रूपइया कर्जा लओ हतो, जोन खेती में अच्छी उपज न होय के कारन हमने रूपइया जमा नई कर पाओ हे। रानी पत्नी किशना ने कहो कि हमने किसान क्रेडिट कार्ड के तहत 50 हजार रूपइया लओ हतो। बैंक वालेन ने 70 हजार रूपइया नोटिस में लिख के भेजी हे। कन्धी पत्नी मरिया ने कहो कि ई साल ओला वृष्टि के कारन हमाए खेतन में कछू नई बचो हे। हमाओ परिवार पालब तो मुश्किल परो हे। हम कर्जा किते से भरहें। पहले सरकार किसानन खा 50 प्रतिशत छूट देय खा कहत हती। अब बढ़ा के काय नोटिस भेजी जात हे। नोटिस देख के हमाई रात दिन आंखी नई लागत हे। हम किते से इत्तो रूपइया भरहे। एई से लागत हे कि आपन जान दे दे। कबरई यू.पी. ग्रामीण बैंक के मैनेजर आत्माराम दुबे ने बताओ कि किसानन खा हर छह महीना में फसल बेंच के कर्जा भरने परत हे। एक साल को 7 प्रतिशत ब्याज ओर दूसरी साल 8.50 प्रतिशत ब्याज भरने परत हे। ऊपर से आदेश आओ हे, जीसे नोटिस भेजी हे। अगर कर्जा न भरहें तो आदेश के अनुसार कारवाही करी जेहे।