नेपाल फिर नहीं बनेगा हिंदू राष्ट्र

(फोटो साभार -विकीपीडिया)
(फोटो साभार -विकीपीडिया)

काठमांडू, नेपाल। नेपाल फिर से हिंदू राष्ट्र नहीं बनेगा। संविधान सभा ने 14 सितंबर को देश की धर्मनिरपेक्ष पहचान बनाए रखने का फैसला लिया है।
विरोध में नेपाल की राजधानी काठमांडू में हिंदू संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया। इस बीच सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकिरयों के बीच संघर्ष हुआ। इसमें चालीस लोगों की मौत हो गई। दरअसल यहां की राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी ने संविधान से धर्मनिरपेक्ष शब्द हटाने और देश की पुरानी हिंदू पहचान को दोबारा स्थापित करने की मांग की थी। लेकिन छह सौ एक सदस्यों की संविधान सभा में केवल इक्कीस सदस्यों ने ही इसका समर्थन किया। नेपाल में साल 2006 में राजशाही का अंत हुआ था। तभी यहां के संविधान में धर्मनिरपेक्ष शब्द जोड़ा