निर्मल पंचायत कोन काम के

panchayat_logo.

सीतामढ़ी अउर शिवहर जिला में बहुत निर्मल पंचायत घोषित भेल हई। ओई पंचायत के स्वाच्छता संबधित हर क्षेत्र में विकास करावे के हई। लेकिन बहुत कम पंचायत में एई नियम के पालन कैल जाई छई। बहुत अईसन पंचायत हई जे नाम के निर्मल पंचायत हई। जहां शौचालय भी न बनल हई। सब लोग सड़क पर गंदगी फैलवई छथिन जेई कारण उहां के लोग के तरह-तरह के बीमारी फैइलई छई।
जेइसे में कि शिवहर जिला प्रखण्ड तरियानी के सुरगाही पंचायत के चार साल पहिऐ निर्मल पंचायत घोषित कैल गेलई। लेकिन आई तक उहां घरे-घरे शौचालय न लगलई। उहां के लोग सरकारी शौचालय के सीट के चापाकल पर सीलाप के काम में लवई छथिन। अउर टंकी के बैल के नादी बनयले छथिन। उनका सबके सोच न हई कि शौचालय से कि फैयदा हई। ओई से उनका सब के कोई मतलब न हई। जब लोग शौचालय के ही उपयोग न करई छथिन त साफ-सफाई के मतलब ही न जनई छथिन त उ निर्माल पंचायत कोन काम के हई। जब कि सरकार के एई निर्मल पंचायत बनावे के पीछे करोड़ो रूपइया खर्च होई छई। इहां तक कि जे मुखिया अपना पंचायत के पूर्ण रूप से निर्मल पंचायत बना लेई छथिन। उनका सरकार पचास हजार रूपइया इनाम देई छथिन। कतेक मुखिया गलत काम करके रूपईया उठा लेई छथिन लेकिन धरातल पर बहुत कमें काम करवई छथिन। कुछ मुखिया छथिन जे नियम के पालन करई छथिन। जब सरकार योजना लागु कैले छथिन त ओई पर पलट के देखे के चाहि।