नियाव लइके रहिहौं

c Ramnagar - Rajapur Thana finalजिला चित्रकूट, ब्लाक पहाड़ी गांव हफ्ता देवारी। हिंया के शोभा आरोप लगावत कहिस कि मनसवा मदन खाना खर्चा नहीं देत अउर मारपीट करत हवै। यहिके रपट राजापुर थाना मा 1 नवंबर का लिखाइगे, पै मनसवा के खिलाफ कारवाही नही भे।
शोभा का कहब हवै कि षादी का छह साल होइगे। मनसवा मदन षुरु से मारपीट करत रहै। मोरे दूसर लड़की भे हवै तौ वा कहत हवै कि या मोर लड़की नहीं आय। या बात का लइके परेशान करत हवै। मनसवा खाये तक का तरसावत हवै। अब मै आपन हक लइके रहिहौ। मनसवा मदन का कहब हवै कि मै खाना खर्चा बराबर देत हौं। वा यहिनतान झूठ कहत हवै। अउर वा मोरे खिलाफ थाना मा रपट लिखा दिहिस हवै। राजापुर थाना के छोट दरोगा वृंदावन का कहब हवै कि रपट लिखी हवै। उनका समझौता करवावा जई। अगर मनसवा न मानी तौ कारवाही कीन जई।