नियमन खा होहे पालन, जा पार्टी में तनाव

ई समय उत्तर प्रदेश में चुनाव को माहौल गर्मा गर्मी में चल रहो हे। हर पार्टी को नेता अपने भाषण में बड़े नियम बताउत हे, पे बनाये गये नियमन खे अनुसार कित्तो काम होत हे जा कोनऊ पार्टी को नेता पलट खे नई देखत आय।
हम बात करत हे। आम आदमी पार्टी के नेता पूर्व मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल खे। जीने आम आदमी पार्टी के तहत जा नियम बनाओ हतो कि उम्मीदवार क्षेत्र को होय खा चाही, उम्मीदवार को चुनाव क्षेत्रीय जनता करहे ओर टिकट कोनऊ अमीर आदमी खा नई अपने क्षेत्र के आम आदमी खा बिना रूपइया खे दओ जेहे। जोन हमेशा हमाओ साथ दे सके।
आम आदमी पार्टी में जे सारे नियम बने हते तो ऊ नियमन खा पालन काय नई करो जात हे। अभे लोक सभा के चुनाव में महोबा जिला से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार चन्द्र नरायण राजपूत खा महोबा की जनता ने चुनो हतो। काय से ऊ महोबा क्षेत्र को हतो, पे चन्द्र नरायण राजपूते खा पार्टी ने टिकट न देके हमीरपुर जिला के अतुल कुमार प्रजापति खा टिकट दे दओ हे। टिकट मिले खे बारे में जा भी सुनवाई हे कि ऊसे कछू रूपइया भी लये गये हे। सवाल जा उठत हे कि जोन आदमी हमाये क्षेत्र को रहे वालो नइयां ऊ हमाये क्षेत्र खा का विकास का कराहे? एक केती पार्टी के नेता आपन बड़ाई दिखाये खे लाने कहत हें कि उम्मीदवार आम आदमी होहे। दूसर केती बिड़े आदमियन से रूपइया ले देके टिकट दे दई जात हे। का आम आदमी पार्टी में बने वाले नियम खाली नियम बन खे रह जेहे।